Study Time Table Kaise Banaye in Hindi

हेलो दोस्तों, इस पोस्ट पर मैं आपको स्टडी के लिए time table kaise banaye और इससे संबंधित सभी जानकारी डिटेल में बताऊंगा। इस पोस्ट को पढ़ने के बाद time table कैसे बनाएं व कैसे फॉलो करें से संबंधित आपकी सभी परेशानियां हल हो जाएंगी। तो चलिए शुरू करते हैं-

दोस्तों, अपने लिए एक well productive time table बनाने के लिए आपको time ki importance का पता होना बहुत जरूरी है। समय पर बात करने के दुष्परिणामों के बारे में आपको पता होना अति आवश्यक है क्योंकि इसको जाने बिना आप time table बना तो सकते हैं पर उसे long time के लिए follow नहीं कर सकते है।

आपने Time management का नाम तो सुना ही होगा। Time management का अर्थ है अपने समय को बहोत ही समझदारी के साथ प्रयोग करना। Time management के बारे में पता होना बहुत जरूरी है।

एक well productive study time table कैसे बनाए जाने से पहले यदि आप अंदर से अपने लक्ष्य के लिए व time table follow करने के लिए गंभीर हैं तभी आप आगे जानकारी पढ़ना जारी रखें अन्यथा यहीं पर छोड़ दें।
तो चलिए शुरू करते हैं-

Study Time Table Kaise Banaye in Hindi
Study Time Table Kaise banaye in hindi

Study time table kaise banaye in hindi:-

दोस्तों, क्यों आपको भी पता नहीं चलता कि कब आपका कीमती समय बीत जाता? क्या आपके भी जरूरी काम हमेशा बाकी रह जाते हैं व समय के साथ ताल मेल नहीं बैठ रहा।
यदि हां, तो आप सबसे पहले अपने लिए एक टाइम टेबल बनाएं। अपने टाइम टेबल में आप अपने जरूरी काम व उनके समय को साफ सुथरा लिखें। अपने समय पर पैनी नजर रखें कि आखिर वह कौन सी जगह सबसे ज्यादा व्यतीत हो रहा है।
Time table बनाने के दौरान अपने सभी फालतू कार्यों को उसमें से रिमूव करें व अच्छी आदतें अथवा जरूरी कार्यों पर ज्यादा फोकस करें।
दोस्तों, जितने भी पुरुष महान हुए हैं वह अपने समय के सदुपयोग व काम के प्रति सच्ची लगन के बल पर ही हुए हैं। इसलिए अपने time table को बनाने के साथ फॉलो भी अवश्य करें।

Student ke liye time table kyu jaruri hai:-

Student के लिए एक time table होना बहुत जरूरी है। और उसे फॉलो करना और भी ज्यादा जरूरी है।
  1. स्कूल, कोचिंग, खेलकूद, अथवा मस्ती में विद्यार्थी का पूरा समय कब बीत जाता है उसे पता ही नहीं लगता, इसलिए एक टाइम टेबल होना बहुत जरूरी है।
  2. एक fixed time table ना होने के कारण विद्यार्थी के बहुत से काम छूट जाते हैं। जिनकी वजह से बाद में टीचर से डांट सुननी पड़ जाती है।
  3. पढ़ाई के बोझ के चलते student अपने सभी विषयों पर बराबर ध्यान नहीं दे पाते हैं जिसके कारण व परीक्षा में लगातार असफल होते जाते हैं ऐसे में time table की हेल्प से वह बेहतर perform कर पाएंगे।
  4. सोशल मीडिया, वीडियो गेम्स, और PubG के इस दौर में समय का शोषण बहुत तेजी से हो रहा है ऐसे में time table आपके समय को सही तरीके से व्यवस्थित करके उज्जवल भविष्य के लिए मददगार साबित होता है।

अपने जरूरी काम व अन्य काम की लिस्ट तैयार करें:-

सुबह उठने से लेकर रात तक सोने के बीच आपको जितने काम होते हैं उसकी एक लिस्ट तैयार करें।
जैसे-
06:00 – 07:00 = exercise, yoga
07:00 – 08:00 = dainik kaam
09:00 – 11:00 = saman lana
इस प्रकार लिस्ट बनाएं।
अब अपने बचे हुए समय को कैलकुलेट करें व उसमें साफ-साफ व उसके द्वारा लिए गए समय को mention करते हुए बनाएं।
01:00 – 02:00 = Chemistry Chapter
02:00 – 03:00 = Math Practice
03:00 – 04:00 = Physics.
04:00 – 05:00 = Other Works
अपने टाइम टेबल हमें आराम का समय भी जरूर mention करे। Time table को फॉलो करने के साथ-साथ अपने लिए एक आराम का समय भी अवश्य निश्चित करें।

Time table बनाते वक्त किन बातों का ध्यान रखें:-

  • Time table बनाते समय अनुपयोगी कार्यों को सबसे पहले हटाए।
  • जोर जबरदस्ती से फॉलो करना पड़े ऐसा टाइम टेबल चार्ट बिल्कुल ना बनाएं। ऐसा टाइम टेबल बनाएं जिसे आप आसानी से अपनी इच्छा से फॉलो कर पाए।
  • टाइम टेबल को सुंदर व अट्रैक्टिव बनाएं। ऐसा बनाएं कि देखने पर वह आपको खुद ही फॉलो करने पर मोटिवेट कर दे।
  • उस पर नीचे प्रेरणादाई लाइने लिखें जिसे पढ़ने पर आप में आत्मविश्वास व सकारात्मकता बढ़े।
  • Entertainment के लिए भी समय निकालें। टाइम टेबल का मतलब यह बिल्कुल भी नहीं है कि उसमें बस गंभीर कार्य ही होंगे। इसका अर्थ है कि आप के समय को व्यवस्थित व प्रोडक्टिव करना।
Study Time Table Kaise Banaye in Hindi
Study Time Table Kaise Banaye in Hindi

टाइम टेबल कहां लगाएं व कैसे याद रखें:-

ऐसा स्थान जहां आप अपना सबसे ज्यादा समय बिताते हैं उसी जगह टाइम टेबल को लगाएं। जिस जगह पर आपकी सबसे ज्यादा नजर पड़ती है फिर वह आपकी पढ़ने की टेबल भी हो सकती है या आपके आराम करने का स्थान।

लोगों के साथ ज्यादातर होता है कि वह टाइम टेबल बनाते हैं पर उसे ज्यादा समय तक फॉलो नहीं करते जो कि व्यक्ति की सबसे बड़ी गलती है, तो ऐसा ना हो इसके लिए आप टाइम टेबल को फॉलो करने के लिए स्ट्रांग माइंडसेट बनाएं।
आप अपने फोन पर हर कार्य के लिए पार्टिकुलर अलार्म का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। यह अलार्म आपको आपके समय पर आपके जरूरी काम रिमाइंड करा देगा तो इससे बेहतर आपके लिए कोई दूसरा टूल हो ही नहीं सकता। इसको फॉलो अवश्य करें।

Time table में संशोधन (Changes) कैसे करे:-

जैसे जैसे आप के कार्य व उनके समय बदलते हैं वैसे वैसे आपको अपने टाइम टेबल पर भी कई तरह के संशोधन करने पड़ते हैं। संशोधन करने में बिल्कुल भी आलस्य ना करें आलस्य इंसान का सबसे बड़ा शत्रु है।

जैसे कि महापुरुषों ने भी कहा है-

संशोधन से ही विकास संभव है।”
 
संशोधन के दौरान एक बात का जरूर ध्यान रखें कि आपके जरूरी काम प्राथमिक तौर पर हों। Time table को संशोधित, सुव्यवस्थित व प्रोडक्टिव रखना और उसे फॉलो करना स्वयं आपकी जिम्मेदारी है इसे अवश्य फॉलो करें।

आज आपने क्या सीखा:-

दोस्तों आज हमने सीखा की study ke liye time table kaise banaye और टाइम टेबल बनाना हमारे लिए क्यों जरूरी होता है और उसे हम किस प्रकार बहुत ही आसानी से फॉलो कर सकते हैं।
हमने यह भी जाना कि टाइम टेबल बनाते समय हमें किन बातों का ध्यान रखना चाहिए और टाइम टेबल में संशोधन व महत्वपूर्ण बदलाव किस प्रकार करें।
हम आशा करते हैं की टाइम टेबल बनाने से संबंधित आपकी सभी समस्याएं हल हो गई होंगी हमारा हमेशा से यही लक्ष्य होता है कि हम आपको पूरी जानकारी प्रदान करें जिससे कि आपको संबंधित जानकारी के लिए परेशान ना होना पड़े।
यदि आपको यह जानकारी पसंद आई हो,तो इसे अपने मित्रों व सगे संबंधियों के साथ सोशल मीडिया पर अवश्य शेयर करें। आप हमें कमेंट सेक्शन में अवश्य बताएं कि आपको यह ब्लॉक कैसा लगा और हमें यह भी बताएं कि आप study के लिए किस प्रकार टाइम टेबल बनाते हैं।
तो मिलते हैं हमारे अगले आर्टिकल में तब तक के लिए स्वस्थ रहिए मस्त रहिए।

इन्हें भी अवश्य पढ़े:-
Class aur Exam me top kaise kare?

 
Exam me top karne ke liye perfect copy kaise ?

Math me topper kaise bane, math me top kaise kare?


Yaad kaise kare? Padha hua yaad 
kaise rakhe?



6 thoughts on “Study Time Table Kaise Banaye in Hindi”

  1. अध्ययन में नियमितता के लिए टाइम टेबल बहुत जरूरी है। आपकी यह पोस्ट विद्यार्थियों को सकारात्मक ऊर्जा प्रदान करेगी।

    Reply

Leave a Comment