प्लास्टिक के लाभ और हानि पर निबंध | plastic ke laabh aur hani hindi essay [2021]

नमस्कार पाठको, क्या आप प्लास्टिक के लाभ और हानि पर निबंध पढ़ना चाहते हैं? यदि हां तो हमारे इस लेख में हम आपको प्लास्टिक के लाभ और हानि पर संपूर्ण जानकारी देंगे। मित्रों आज के लेख में हम आपको बताएंगे कि Plastic से होने वाले लाभ और हानि कौन-कौन से हैं। कौन कौन से वे कारण हैं जिससे Plastic हमें लाभ पहुंचाता है और इसी संबंधित वे कौन से कारण हैं, जिनसे Plastic हमें नुकसान पहुंचा सकता है।Plastic प्रकृति के संबंध में किस प्रकार हानिकारक हो सकता है, इसके बारे में भी आज हम आपको पूरी जानकारी देंगे।

प्लास्टिक के लाभ और हानि पर निबंध
प्लास्टिक के लाभ और हानि पर निबंध

प्लास्टिक के लाभ

Plastic के लाभ बहुत प्रकार से बताए जा सकते हैं और विभिन्न चरणों में इनके लाभ वर्गीकृत किए गए हैं जैसे कि-

• Plastic के निर्माण के संबंध में

• Plastic के कीमत के संबंध में 

• Plastic के  बनावट के संबंध में 

• Plastic का  जल प्रतिरोधी  और स्वादहीन गुण 

• इसके पुनः उपयोग में लाए जाने के गुण

1. Plastic के निर्माण के संबंध में

मित्र Plastic के निर्माण के संबंध में  और उपयोग के संबंध में हम आपको  इसके फायदे बताएं तो इसके बहुत सारे फायदे निकल सकते हैं, जैसे कि इसे पिघलाकर के किसी भी आकार में बदला जा सकता है। यह Plastic के सबसे उच्चतम लाभों में से एक है और इसके निर्माण की विधि ऐसी होती है कि इसे हर कोई बना सकता है। यह बहुत बड़ी मात्रा में उत्पादित किए जाते हैं, जिसके कारण इसका उपयोग दैनिक दिनचर्या में बहुत बड़ी मात्रा में किया जाता है। और इसको बनाने की आसानी के कारण की इसे बनाने वाले बहुत सारे लोग मिल जाएंगे।

2. Plastic के लागत के संबंध में

मित्रों Plastic की कीमत के संबंध में यदि हम इसके लाभ बताना चाहें तो आपको पता चलेगा कि Plastic बहुत ही ज्यादा सस्ता होता है।Plastic को बनाने  वाले बहुत ज्यादा लोग हैं, और Plastic को बड़ी भारी मात्रा में बनाया किया जाता है। इसी कारण Plastic सस्ते होते हैं, और किसी भी अन्य वस्तु की तुलना में इस्तेमाल करना आसान भी होता है।

यदि हम स्टील या फिर कांच की बनी बोतलों या फिर बर्तनों के बारे में इसकी तुलना करें, तो यह लंबे समय तक चल भी सकता है। इसकी कीमत स्टील तथा कांच के बर्तनों की तुलना में बहुत कम होती है।

3. इसकी बनावट के संबंध में

मित्रों Plastic की बनावट बहुत ही मजबूत होती है, और इसका सबसे बड़ा उपयोग यह  है कि यह वाटरप्रूफ होती है, जिसके कारण इसमें किसी भी प्रकार के द्रव्य को इकट्ठा किया जा सकता है। तथा किसी भी प्रकार के द्रव्य पर जैसे कि दूध, पानी तेल, और भी कई अन्य केमिकल Plastic के बर्तनों या फिर डब्बों में पैक कर दिए जाते हैं। यह लंबे समय तक चलते हैं, और किसी भी प्रकार से द्रव्य के लीक होने की संभावनाएं बिल्कुल कम होती है।

4. जल प्रतिरोधक के रूप में और स्वादहीन होने का गुण

यदि हम Plastic के जल प्रतिरोधक तथा उसके गंधहीन  और स्वादहीन होने के गुण को इसके लाभ में शामिल करें तो हमें  इस बात की जानकारी ले पाएंगे कि Plastic में किसी भी प्रकार के खाद्य सामग्री या तरल को इकट्ठा करके रखने पर उसमें किसी भी प्रकार का गंध नहीं आता। उसका स्वाद बिल्कुल वैसा ही रहता है जैसा पहले था।

5. Plastic के पुनः उपयोगी के संबंध में

Plastic का यह लाभ सबसे ज्यादा फायदेमंद होता है, और इसी के कारण Plastic को सबसे ज्यादा इस्तेमाल किया जाता है। क्योंकि Plastic को कभी भी फिर से इस्तेमाल किया जा सकता है, क्योंकि इसके पुनः उपयोग की क्वालिटी को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता है। इसका एक सबसे अच्छा गुण यह होता है कि इससे बने किसी भी उत्पाद को रिसाइकल करके किसी दूसरे उत्पाद में बदला जा सकता है।

प्लास्टिक से हानि

मित्रों Plastic के नुकसान भी बहुत ज्यादा होते हैं, जिसके कारण यह चिंता का कारण बना हुआ है  Plastic के नुकसान में कई प्रकार के कारण जोड़े जा सकते हैं। जैसे कि-

• इसका प्रकृति के प्रति घुलनशील ना होना।

• इसका  कैंसर के जैसे  भयानक रोगों का  कारण होना।

•इस को जलाने पर गंदी और विषाक्त गैसों का पैदा होना।

• यह गर्मी के प्रति  कम प्रतिरोधी होना।

• रोड़ा बनकर अटक जाना।

यह इसके कई हानिकारक प्रभाव होते हैं जो मानव सहित पूरे विश्व में हर जीव की समस्या बने हुए हैं।

प्रकृति के प्रति कम घुलनशील होना

मित्रों Plastic का एक बड़ा नुकसान यह भी है कि ये प्रकृति के प्रति बहुत ही कम घुलनशील है क्योंकि जब हम Plastic का उपयोग करके उसे फेंक देते हैं। तो यह जमीन में या पानी में घुल नहीं सकते है, यदि पानी में घुलती भी है तो अत्यंत ही अधिक समय लगाती है। एक सामान्य पेड़ का पत्ता मिट्टी में मिल जाने में ज्यादा से ज्यादा 2 से 3 महीने लगा देता है, लेकिन Plastic की एक थैली 200 से 300 वर्ष तक भी नहीं गलती है। जिसके कारण यह भूमिगत जीवों को समाप्त करने में लगी हुई है, और महासागरों में फेंके जाने वाले Plastic का वजन  अरबों टन में होता है, यह समुद्री जल जीवो को  पूर्ण रूप से समाप्त करने में सक्षम है। जो कि एक अत्यंत ही चिंताजनक हानि है। 

कैंसर के बड़े कारण के रूप में  कार्यरत रहना

Plastic का एक सबसे बड़ा नुकसान यह है कि यह मानव तथा जानवरों में भयंकर कैंसर का कारण बन सकता है। यदि कोई व्यक्ति लंबे समय तक सिंगल यूज Plastic का इस्तेमाल करता है, और Plastic के बर्तनों में खाना खाता है, पानी पीता है, तो उसे कार्सिनोमा कैंसर होने की सबसे ज्यादा संभावना होती है। जो व्यक्ति की मृत्यु का कारण बनता है।

जलाने पर गंदी तथा विषाक्त गैस पैदा करना

Plastic का एक सबसे बड़ा नुकसान है कि जब से जलाया जाता है तो यह बहुत ही गंदी तथा विषाक्त गैस उत्पन्न करती है, जो कि पर्यावरण को भयंकर रूप से प्रदूषित करने में सक्षम है। तथा उसे वातावरण में यदि कोई श्वास लेता है तो वह अपने पूरे शरीर को मृत्यु की तरफ धकेल रहा होता है, क्योंकि यह गंदी और जहरीली गैस से शरीर के लिए किसी भी प्रकार से अच्छी नहीं होती। बल्कि यह कैंसर जैसे महान विकारों को जन्म देती है। इसके रोकथाम के लिए हमने plastic ke pratibandh par nibandh लिखा है जो आपको इसके रोकथाम समझने में  सहायता करेंगे।

गर्मी की प्रतिरोधक क्षमता कम होना

मित्रों  Plastic की सबसे बड़ी  कमी और हानि यह होती है कि Plastic  को पिघलाना बहुत ही आसान होता है। इसलिए यदि कहीं पर भी जब अधिक गर्मी होती है तो वहां पर Plastic उत्पाद नहीं रखे जा सकते, और यदि कोई ऐसा करता है तो उस उत्पाद में रखी हुई चीजें बर्बाद हो सकती है। क्योंकि वह Plastic का उत्पाद पूर्ण रूप से पिघल सकता है और जलने पर यह विषाक्त गैसे छोड़ता है।

रोड़ा बन जाना

Plastic का सबसे महत्वपूर्ण विकार यह है कि यह हमारे रास्ते को अवरुद्ध कर सकता है। जल जीवन को अवरुद्ध कर सकता है, तथा मानव जीवन को भी अवरुद्ध कर सकता है।Plastic किसी भी पानी में या फिर एसिड जैसी चीजों में नहीं घुलती है, और इसका विलायक ऐसा नहीं होता जो प्रकृति के प्रति अच्छा हो। तो जब भी यह नालों में या फिर बड़े स्थानों पर अवरोध बनकर अटक जाती है। तो इसे मानवीय हस्तक्षेप से ही हटाना पड़ता है। इसको हटाने की और कोई तरीके नहीं होते है। इसे लिए आपको हमारे “प्लास्टिक को रोकने के उपाय पर निबंध” को देखना चाहिए, वहा आपको मदद मिलेगी।

निष्कर्ष

आज के लेख हमने प्लास्टिक के लाभ और हानि पर निबंध को स्पष्ट रूप से जानने की कोशिश की है। हमने जाना Plastic हमें किस प्रकार लाभ पहुंचा सकते हैं, और इसकी हानि कितनी भयंकर हो सकती है। आज के लेख में हमने Plastic के संबंध में इसकी उपयोगिता तथा इसके विकारों के बारे में जानकारी हासिल करी। यदि आप इसके उपयोग के बारे में और जानना चाहते है। तो आप प्लास्टिक के उपयोग पर निबंध को visit कर सकते है। हम आशा करते हैं कि आपको यह लेख पसंद आया होगा। यदि आपको यह लेख पसंद है तो कृपया शेयर करें।

धन्यवाद!

प्लास्टिक के लाभ और हानि पर निबंध से संबंधित प्रश्न और उनके उत्तर (FAQ)

Q. Plastic से क्या-क्या हानि होती है?

Ans. Plastic विभिन्न प्रकार से हानिकारक होता है जिसमे इसका सबसे महत्वपूर्ण विकार यह है कि, यह किसी भी प्रकार से प्रकृति में घुल नहीं सकता है और यह भयंकर कैंसर के वेरिएन्ट्स के प्रति उत्तरदायी होता है, जो मृत्यु के कारक बनते है।

Q.Plastic मिट्टी को किस प्रकार प्रदूषित करता है?

Ans. Plastic यदि मिटटी के अन्दर जाकर बैठ जाता है तो उस परिस्थिति में Plastic मिट्टी में मिल नहीं सकता है और इसे मिटटी में मिलने में 200-300 साल लग जाते है और तब तक Plastic मिटटी को बंजर बनाने में अपना पूरा योगदान दे चुका होता है। और ज्यादा जानकारी के लिए आप हमारा “प्लास्टिक के दुष्प्रभाव पर निबंध” लेख देख सकते है।

Q. पॉलिथीन का उपयोग क्यों नहीं करना चाहिए?

Ans. पॉलिथीन का इस्तेमाल न करने के विभिन्न कारण हो सकते है, पहला तो यह की इसे बहुत बड़ी मात्रा में इस्तेमाल किया जाता है जिसके कारण यह बड़ी मात्र में सड़कों या नदियों, नालों, महासागरों, में फेके जाते है जो वहा का जनजीवन नष्ट करते है। यह विभिन्न प्रकार से सामान्य जानवरों के पेट में जाकर उनकी मृत्यु का कारण बनती है। और इसे जलने पर यह विषाक्त गैस उत्पन्न करती है। प्लास्टिक पॉलिथीन का दैनिक जीवन में बहुत महत्व होता है लेकिन यह फिर भी बहुत हानिकारक होती है।

प्लास्टिक प्रतिबंध पर निबंध
प्लास्टिक पॉलिथीन पर निबंध
मृदा प्रदूषण पर निबंध
विश्व पर्यावरण दिवस पर निबंध
पर्यावरण पर लॉकडाउन प्रभाव निबंध
प्लास्टिक व प्रदूषण के विषय को गंभीरता से जानने के लिए ऊपर दिए गए विषयों में से एक का चयन करें।

2 thoughts on “प्लास्टिक के लाभ और हानि पर निबंध | plastic ke laabh aur hani hindi essay [2021]”

Leave a Comment