5G Network par Nibandh | 5G नेटवर्क पर निबंध

दोस्तों, हमारा देश भारत बहुत-ही तेजी से digitally grow कर रहा है। यदि आज इंडिया का नाम बदलकर इंटरनेट इंडिया भी कर दिया जाए, तो भी गलत नहीं होगा।

आज इंटरनेट प्रत्येक व्यक्ति के जीवन का आधार बन चुका है डिजिटल इंडिया के अंतर्गत बहुत मुश्किल ही होगा कि ऐसा कोई व्यक्ति मिले जो इंटरनेट का इस्तेमाल ना कर रहा हो।

बढ़ते इंटरनेट के इस दौर में हम पहले ही 1G, 2G, 3G एवं 4G technology (तकनिक) तक का सफर तय कर चुके हैं और बहुत ही तेजी से 5-G की ओर बढ़ रहे हैं।

तो, आज हम इस आर्टिकल में 5G Network par Nibandh 5G नेटवर्क पर निबंध (पूरी जानकारी) के अंतर्गत 5G तकनीक से संबंधित सभी महत्वपूर्ण बातों को जानेंगे तो इसे अंत तक अवश्य पढ़ें-

क्या आपने इसे पढ़ा- डिजिटल इंडिया पर निबंध हिंदी में।

5G में G का क्या अर्थ है?

प्रत्येक 1-G से लेकर 5-G तकनीक में ‘G’ का अर्थ है Generation यानी की ‘पीढ़ी’। ‘G’ अक्षर इन technology (तकनिक) में पीढ़ी और विकास को दर्शाता है।

जैसे-जैसे तकनीक जगत में नई-नई खोज होती जाती है वैसे-वैसे यह ‘G’ उस उपकरण/तकनिक के बढ़ते Generation को दिखाता है। भारत में प्रतिदिन नई-नई technology (तकनिक) का समावेशन हो रहा है।

5-G नेटवर्क क्या है? What is 5-G Network?

5-G नेटवर्क एक तरह की दूरसंचार technology हैं। यह वायरलेस माध्यम का है। 5-G नेटवर्क में रेडियो तरंगे और विभिन्न तरह की रेडियो आवृत्ति का इस्तेमाल होता है। यह बाकी नेटवर्क ओ की तुलना में अत्यंत ही विकसित एवं नवीन है।

जरूर करें- इंटरनेट पर निबंध

5-G तकनीक में कई तरह के मानक सामने आते हैं। इसके अंतिम मानव का निर्धारण ITU (International Telecommunication Union) के हाथो से होता हैं।

5-G नेटवर्क 4G LTE (Long Term Evolution) नेटवर्क के launching  के बाद डिजिटल नेटवर्क क्षेत्र की Next Generation है।

5G नेटवर्क की विशेषता (Why in News )

5G नेटवर्क की सहायता से लोगों के साथ साथ ऑटोमोबाइल जगतत, औद्योगिक उपकरण व संसाधन यूटिलिटी मशीन, संरचना (Infrastructure) व आंतरिक सुरक्षा भी अच्छे से विकसित हो पाएंगे और उनके बीच संबद्धता में भी वृद्धि आएगी।

5G तकनीक के पांचवें जनरेशन को दर्शाता है जोकि एकदम फास्ट मोबाइल ब्रॉडबैंड नेटवर्क के आधार पर कार्य को आगे बढ़ाएगी यह नेटवर्क एक सेकंड में 20gb तक की स्पीड देगी 5G के आने के साथ-साथ अलग-अलग क्षेत्रों में व्यवसाय रोजगार वह विकास के नए मार्ग प्रशस्त होंगे।

5G को लेके बड़ी घोषणा

दुनिया के छठे वह एशिया के सबसे अमीर व्यक्ति श्री मुकेश अंबानी ने हाल ही में घोषणा की है कि 2021 की दूसरी छमाही में वे 5G सेवा को लांच करेंगे।
उन्होंने यह भी कहा कि इसके लिए हमें नीतिगत बदलाव व प्रक्रिया मे boost लाने की जरूरत है। इसको सभी तक मुहैया कराने के लिए आसान, सुलभ व सस्ता करने की जरूरत है।

मराठी निबंध यहां पर पढ़े

5G नेटवर्क के लाभ Advantages of 5-G Network

  • इंटरनेट की अत्यंत तीव्र गति:- अभी जो हम 4-G नेटवर्क अपने मोबाइल में इस्तेमाल कर रहे हैं उसकी क्षमता एक सेकंड में 1 GB (Gigabyte) डाउनलोड करने की है। वहीं दूसरी ओर 5-G नेटवर्क एक सेकंड में 10 Gb (गीगाबाइट) तक की फ़ाईल आसानी से डाउनलोड कर सकता है।
  • डिजिटल इंडिया का विकास:- 5G नेटवर्क की सहायता से डिजिटल इंडिया और तेजी से विकास कर सकेगा पूरा विश्व इस नेटवर्क के कारण और जुड़ाव महसूस करेगा।
  • जीडीपी(GDP) growth मे वृद्धि:- आर्थिक सहयोग एवं विकास संगठन (OECD) के एक हाल जी मे हुये दावे के अनुसार 5G नेटवर्क के इस्तेमाल से भारत के जीडीपी व अर्थव्यवस्था में हमें काफी सकारात्मक प्रभाव देखने को मिलेगा।

5G नेटवर्क के नुक्सान Disadvantages of 5-G Network

1- एक नए शोध से हमारे शोधकर्ताओं को ज्ञात हुआ है कि 5G नेटवर्क की जो तरंगे हैं वह दीवारों को भेदने में असक्षम है जिसके कारण वह घनत्व में बहुत दूर तक नहीं जा सकती जिसके परिणामवश इसके नेटवर्क में कमजोरी आएगी।

जरूर पढ़े- इंटरनेट पर 10 वाक्य निबंध

2- दीवारों के साथ-साथ यह बारिश, पेड़-पौधे जैसे संसाधनों को भी भेदने में सक्षम नहीं है इन सब से यह पता चलता है कि यदि भविष्य में 5जी को लांच किया गया तो हमें शायद उसके नेटवर्क में कमी की शिकायत हो।

3- कुछ लोगों का यह भी मानना है कि 5G नेटवर्क के लॉन्चिंग के लिए जो किरणों का इस्तेमाल हो रहा है उन्हीं का घातक परिणाम है कोरोनावायरस परंतु इस पर अभी कोई भी साक्ष्य प्राप्त नहीं हुए हैं।

जरूर पढ़े- वाइट फंगस पर निबंध

5G के लिए आदर्श स्पेक्ट्रमबैंड कौन-से हैं?

5G में मिलीमीटर वेव स्पेक्ट्रम बहुत-ही अहम भूमिका निभाते हैं। इसका विचार पहली बार जगदीश चंद्र बोस ने 1895 में प्रस्तुत किया था उन्होंने बताया था कि इन वेव का इस्तेमाल हम कम्युनिकेशन के लिए कर सकते हैं।

यह तरंगें 30 से 300 GHz Frequency पर काम करती हैं। इन तरंगों का उपयोग हम सेटेलाइट और रडार सिस्टम में भी करते हैं।

5G Network 3400 MHz, 3500 MHz और 3600 MHz बैंड्स पर काम कर सकते हैं। 3500 MHz बैंड को हम इसके लिए आदर्श बैंड कहते हैं क्योंकि यह मध्य का बैंड है और अच्छी Connectivity Provide करता है।

उपसंहार (Conclusion)

5G नेटवर्क के विकसित होने पर अवश्य ही पूरे विश्व में विकास की लहर दौड़ जाएगी। 5G नेटवर्क के फायदे अपार हैं। जैसा कि हम जानते हैं कि किसी भी चीज का फायदा और नुकसान दोनों ही होता है तो ठीक उसी तरीके से 5 जी के भी अपने ही नुकसान है। आप इस बारे में क्या सोचते हैं हमें नीचे कमेंट करके अवश्य बताएं।

तो आज हमने  5G Network  par Nibandh  5G नेटवर्क पर निबंध (पूरी जानकारी) पढ़ा व 5G के बारे में जाना । आपको यह आर्टिकल कैसा लगा हमें अवश्य बताएं और ऐसे अपने दोस्तों रिश्तेदारों को सगे संबंधियों में भी अवश्य शेयर करें हम आपके लिए ऐसे ही Informative ब्लॉग लाते रहेंगे।

Frequently Asked Questions (FAQ)

Ques1: 5G नेटवर्क लॉन्च करने वाला विश्व का पहला देश कौन-सा हैं?

Ans- साउथ कोरिया। Samsung के नए 5जी स्मार्टफोन के साथ 5 जी services को लौन्च किया गया।

Ques2: 5G कब लॉन्च होगा इंडिया में?

Ans- जिओ कंपनी के मालिक श्री मुकेश अंबानी जी ने 2021 की दूसरी छमाही तक 5G को इंडिया में लॉन्च करने की घोषणा की है।

Ques 3: 5G कैसे काम करता है?

Ans- 5G नेटवर्क ज्यादा bandwidth की टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल करेगा। जैसे की मिलिमीटर वेव आदि। इंटरनेट स्पीड मे यह 4G की तुलना में बहुत बेहतरीन काम करेगा।

Ques 4: इंडिया में 5G किन फोन मे चलेगा?

Ans- जैसा कि हम सब जानते हैं कि जिओ के मालिक द्वारा इसे लांच किया जाएगा तो शुरुआती दिनों में जियो के फोन में ही इसकी सुविधा दी जाएगी। बाद में इस पर और बदलाव हो सकते हैं।

Ques 5: क्या 4G फोन मे 5G Network काम करेगा?

Ans- नहीं बिल्कुल भी नहीं । आप 4G फोन में 5G नेटवर्क इस्तेमाल नहीं कर सकेंगे क्योंकि सभी नेटवर्क की बैंडविथ अलग-अलग होती है।

1 thought on “5G Network par Nibandh | 5G नेटवर्क पर निबंध”

Leave a Comment